एक ऐसा गांव जहां लड़कियां बन जाती हैं लड़का, उम्र के एक पड़ाव पर आकर होता है ये सब कुछ

ये दुनिया बड़ी ही अजीब है। यहां आपको कई ऐसी चीजें या घटनाएं देखने और सुनने को मिल जाती है, जो आपको हैरान कर देती है। एक ऐसा ही हैरान कर देने वाला मामला है करीबीयन देश डोमिनिकन रिपब्लिक के ला सेलिनास गांव में । यहां लड़की जन्म तो लेती हैं, लेकिन उन्हें लड़की होने का सुख नहीं मिलता। जी हां, कुछ ऐसी अजीबोगरीब घटना घटती है इनके साथ जो इनके जीवन का सबकुछ बदल कर रख देती है।
विराट कोहली और अनुष्का शर्मा से जुड़ी कुछ रोचक बातें, आप भी जानें

इस गांव में लड़कियां एक उम्र के पड़ाव पर पहुंच कर बन जाती हैं लड़का। जी हां, आपको सुनने में अजीब जरूर लग रहा होगा, लेकिन ये बिल्कुल सही है। यहां ज्यादातर लड़कियां 12 साल की उम्र यानी की युवावस्था में कदम रखते ही लड़का बन जाती हैं। इस बीमारी से ग्रसित लड़कियों में धीरे-धीरे लड़कों के अंग विकसित हो जाते हैं और उनकी आवाज भी भारी हो जाती है। उनके शरीर में वो बदलाव होने लगते हैं जो धीरे-धीरे उन्हें लड़कियां से लड़का बना देते हैं। इनके लिंग और अंडकोश विकसित होने लगते हैं। ऐसा माना जा रहा है कि इन बच्चों में हार्मोनल एंजाइम की कमी के चलते वे बिना किसी स्त्री या पुरुष अंग के जन्म लेते हैं। इसके बाद ही लड़कियां बनकर पैदा हुई बच्ची धीरे-धीरे लड़का बन जाती है।

school girls

ला सेलिनास गांव में 90 फीसदी लड़कियां इस बीमारी से ग्रसित है। यहां इन बच्चों को ग्वेदोचे नाम से बुलाया जाता है। जिन्हें हम किन्नर यानी कि हिजड़ा कहते हैं। यहां के लोग ऐसे बच्चों को घृणा यानी कि हीन नजरों से देखते हैं। डाक्टरों की माने तो यह बीमारी एक अनुवांशिक विकार का नतीजा है। इस बायोलॉजिकल डिसऑर्डर को ‘सूडोहर्माफ्रडाइट’ के नाम से जानते हैं। डॉक्टरों के मुताबिक ये बीमारी लाइलाज है। यहां के बच्चों को इस बीमारी ने पूरी तरह से जकड़ रखा है। और ये बीमारी भी ऐसी है जो इनके अस्तित्व पर ही सवाल खड़े करती है।

अगर आप भी हैं जियो 4G उपभोक्ता, तो पढ़ें ये खबर, होगा बहुत फायदा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *